Breaking News

उत्तराखंड: क्या है 2 भाजपा नेताओं का ऑडियो कांड, मंत्री बनाने के लिए 30 लाख, उत्तराखंड में मचा सियासी हल्ला

उत्तराखंड: क्या है 2 भाजपा नेताओं का ऑडियो कांड, मंत्री बनाने के लिए 30 लाख, उत्तराखंड में मचा सियासी हल्ला

भतरौंजखान में भाजपा के दो गुटों के बीच उपजे विवाद के बाद अब एक ऑडियो वायरल हो रहा है। इसमें एक व्यक्ति मंत्री बनाने के लिए दूसरे व्यक्ति पर 30 लाख ठगने का आरोप लगा रहा है। इस ऑडियो को विधायक प्रमोद नैनवाल और उत्तराखंड राज्य सलाहकार श्रम संविदा बोर्ड के अध्यक्ष (दर्जाधारी) कैलाश पंत की अदावत से जोड़ा जा रहा है। हालांकि अमर उजाला सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता।

ऑडियो के सार्वजनिक होने पर विधायक डॉ. प्रमोद नैनवाल ने इसमें अपनी आवाज होने से इन्कार किया है जबकि दर्जाधारी कैलाश पंत ने दावा किया है कि ऑडियो में जो आवाज सुनाई दे रही है वह विधायक प्रमोद नैनवाल की ही है।

ऑडियो के प्रमुख अंश

पहला व्यक्ति: सर नमस्कार
दूसरा व्यक्ति: आज तुम्हारे गुरुजी गए थे मेरे भाई को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर
पहला व्यक्ति: पंत जी का फोन आ गया था। उनका कहना था मैं भतरौंजखान थाने में हूं। आ जाओ.. जरा मुलाकात कर लो
दूसरा व्यक्ति: धोखाधड़ी की शिकायत दे रहा हूं। 30 लाख मुझसे ठगे हैं।
पहला व्यक्ति: आप जो कर रहे हैं करें।
दूसरा व्यक्ति: बहुत अच्छा सिला दिया तुम लोगों ने.. मेरे भाई को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर थाने में। हमने बिगड़ा क्या था।
पहला व्यक्ति: वहां जाकर पता चला कि ऐसा कैसे हो रहा है
दूसरा व्यक्ति: इनके मुंह में नहीं जाएंगे पांच अंगुलियां। सारे वायरल हो रहे फोटो। कहना.. चुल्लू भर पानी में डूब मरो। तुम्हें ईश्वर सजा देगा। परमात्मा यदि कहीं है तो मेरा फिटकार है तुमको। कितना भरोसा किया तुम पर। आज मेरे खिलाफ ही थाने में। मेरे भाई को गिरफ्तार कराने के लिए। उनसे कहना चुल्लू पर पानी में डूब मरो। परमात्मा देगा तुम्हें दंड, परमात्मा।
पहला व्यक्ति: मैं उनके साथ में हूं
दूसरा व्यक्ति: बहुत जल्दी अपनी आंखों से देखूंगा और कानों से सुनूंगा। तुम्हारी दुर्दशा। जैसा तुमने आज मेरी बेइज्जती कर रखी है। मेरे घर में आकर कोई गाली दे। कोई बदतमीजी करे इनको क्या मतलब था उससे..
पहला व्यक्ति: इनसे कोई मतलब नहीं था भाई साहब
दूसरा व्यक्ति: तुम बताओ। आज तक इनसे तू शब्द कहा हमने
पहला व्यक्ति: ना..ना ऐसा तो नहीं हुआ
दूसरा व्यक्ति: मैं भी कहता हूं कि इन्होंने मुझसे कहा कि मंत्री बनाऊंगा। धोखे में रखा, मुझसे 30 लाख रुपये ठगे। एफआईआर करता हूं। बुलाता हूं सब गवाही। एकाउंट में आए हैं पैसे। पता चलेगा कि कितने बीस का सैकड़ा होता है। ठीक है हां, कह देना उनसे….

वायरल ऑडियो से मेरा कोई संबंध नहीं है। यह मेरी आवाज नहीं है। एक गिरोह मुझे बदनाम करने की साजिश कर रहा है। मैं इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही करूंगा।
-डॉ. प्रमोद नैनवाल, विधायक, रानीखेत।

वायरल ऑडियो मे गुरुजी का मतलब व्यास गोदास महाराज से है जो कि गोरक्षा दल के प्रांतीय अध्यक्ष हैं। जिस व्यक्ति से विधायक की बात हो रही है वह उनका शिष्य है।
-कैलाश पंत, दर्जा मंत्री।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *