Breaking News

पौडी – शहरी विकास मंत्री प्रेमचन्द अग्रवाल ने पौड़ी में किया शहरी आजीविका मेले का शुभारंभ।

Spread the love

पौडी – शहरी विकास मंत्री प्रेमचन्द अग्रवाल ने पौड़ी में किया शहरी आजीविका मेले का शुभारंभ।

प्रदेश सरकार के वित्त, शहरी विकास एवं आवास, विधायी एवं संसदीय कार्य, पुर्नगठन एवं जनगणना मंत्री प्रेम चन्द अग्रवाल ने अपने एक दिवसीय जनपद भ्रणम के दौरान नगर पालिका परिषद की बहुद्देश्य भवन का शिलान्यास, दीन दयाल अन्तोदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अन्तर्गत गठित स्वंय सहायता समूहों के एक दिवसीय मेले का शुभारम्भ व प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थियों को सम्मानित किया गया।
मंगलवार को शहरी विकास मंत्री प्रेम चन्द अग्रवाल ने जनपद मुख्यालय पौड़ी का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होने जिला मुख्यालय पर निर्माणाधीन बसअड्डे का निरीक्षण किया। उन्होने गढ़वाल मण्डल के चार जनपदों टिहरी, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग व पौड़ी के प्रतिभागी 45 स्वंय सहायता समूहों की स्टॉलों का निरीक्षण कर समूहों को प्रतिभाग प्रमाण पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। जबकि 18 प्रधानमंत्री स्वनिधि के लाभार्थियों को प्रशस्ती पत्र व गिप्ट भेंट कर सम्मानित किया गया। पीएम स्वनिधि योजना के लाभार्थियों को ऋण अवमुक्त करने में सक्रिय भूमिका निभाने वाले तीन बैकों एसबीआई, पीएनबी व बैंक ऑफ बड़ोदा के प्रबंधकों को भी प्रशस्ती पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।
दीन दयाल अन्तोदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अन्तर्गत गठित स्वंय सहायता समूहों के एक दिवसीय मेले के शुभारम्भ अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने कार्यक्रम में उपस्थित समूहों की महिलाओं व आम जनमानस को सम्बोधित करते हुए कहा कि टिहरी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी व उत्तरकाशी के कुल 548 महिला स्वंय सहायता समूहों की 3800 महिलायें स्थानीय उत्पादों को बढावा देने के साथ-रोजगार पा रही है। उन्होने कहा कि स्थानीय ऑर्गेनिक उत्पादों को बढावा देने के लिए हरिद्वार के बाद पौड़ी में इस प्रकार के शहरी आजीविका मेले का आयोजन किया गया है, जिसे अन्य जनपदों में भी जारी रखा जायेगा। उन्होने केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि शहरों व कस्बों के स्ट्रीट वेण्डरों के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि जैसी योजना मील का पत्थर साबित हुई है। उन्होने कहा कि आजीविका मेले का उद्देश्य स्थानीय महिलाओं को रोजगार से जोड़ना, स्थानीय उत्पादों को बढावा देने के साथ-साथ उनके विपणन की सुगम व्यवस्था व वैल्यू एडीशन कर अधिक मुनाफा कमाना है। उन्होने प्रधानमंत्री जी के स्वच्छता अभियान की सराहना करते हुए कहा कि अपने आस-पास के क्षेत्र को साफ सुथरा रखने के लिए जन-जन का जागरुक होना के साथ सहभागिता व निकायों के कार्मिकों की सक्रियता भी आवश्यक है। उन्होने कहा कि प्रदेश के निकायों में सफाई व्यवस्था दुरुस्थ रखना उनकी प्राथमिकता में है। कहा कि प्रदेश सरकार के इन्ही प्रयासों से स्वच्छता के क्षेत्र में अबतक उत्तराखण्ड को सात से अधिक उत्कृष्ठ पुरुस्कारों से नवाजा जा चुका है। उन्होने कहा कि समूहों द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों को देश-विदेश में ख्याति प्राप्त हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES