Breaking News

गर्मी में बारिश अहसास कराएगा मंगेश चौधरी का सॉन्ग “रिमझिम बारिशों में”

1 0
Spread the love

गर्मी में बारिश अहसास कराएगा मंगेश चौधरी का सॉन्ग “रिमझिम बारिशों में”

लखनऊ –

जी हां सही सुने आप बिहार मधुबनी से ताल्लुक रखने वाले अभिनेता मंगेश चौधरी का हिंदी रोमांटिक सॉन्ग रिमझिम बारिशों में रिलीज हुआ है जो आपको इस भीषण गर्मी में बारिश का अहसास कराएगा यह सॉन्ग द म्यूजिक वर्ल्ड के यूट्यूब चैनल पर रिलीज हुआ है।
ये सॉन्ग प्यार करने वाले प्रेमियों के लिए बेहद खास है क्योंकि इस सॉन्ग में लिरिक्स और संगीत के साथ साथ इसकी जो लोकेशन है वो बहुत रोमांटिक है।
बता दे इसके पहले भी मंगेश चौधरी के 4,5 गाने आ चुके है जिनमे से  हिंदी कवर सांग याद आ रहा है तेरा प्यार जो मशहूर म्यूजिक कंपनी “सारे गा मा” के चैनल पर रिलीज हुआ था उसके बाद एक सैड सांग आया जिसका नाम “तेरी यादों में” ये सांग Terracotta music के यूट्यूब चैनल पर रिलीज हुआ था और तीसरा रोमांटिक सांग का “तेरी वफ़ा” जो B4U Music के ऑफिसियल यूट्यूब चैनेल पर रिलीज हुआ था, पपीहा और प्यार तेरा मिला ये दोनो रोमांटिक सॉन्ग द म्यूजिक वर्ल्ड के चैनल पर रिलीज हुए थे जिन्हे देखकर दर्शको को मंगेश चौधरी का अभिनय बहुत पसंद आया।
मंगेश चौधरी ने बताया वो हमेशा कुछ न कुछ नया करते रहते है जिससे दर्शक बोर न हो इसलिए हर कैटेगरी के सांग पर अपने अभिनय से दर्शकों का मनोरंजन करता रहता हुं उम्मीद है मेरा ये गाना भी आप लोगो को बहुत पसंद आयेगा।
इस सॉन्ग में अपनी आवाज दी है गुल सक्सेना और हरमन नाजिम के अली ने,लिरिक्स और संगीत दिया है राजेश घायल ने। इस सॉन्ग में मंगेश चौधरी के साथ फीमेल लीड में खुशबू पोद्दार अपनी अदाओं का जादू चलाती नजर आयेंगी और इस सांग के बाद अब मंगेश चौधरी एज ए लीड एक्टर एक बड़ी हिंदी शार्ट फ़िल्म में नजर आएंगे जो बहुत जल्द आने वाली है ये फ़िल्म बड़े ott प्लेट फॉर्म पर रिलीज होगी जिसका अभी टाइटल रिवील नही किया गया है।
मंगेश चौधरी बिहार के मधुबनी जिले से तालुकात रखते है लेकिन इनकी पढ़ाई लिखाई मेट्रो सिटी मुंबई में हुई। मंगेश के बैकग्राउंड के बारे में बात करे तो इनके पिता महेंद्र चौधरी है जो फ़िल्म जगत में टेक्नीशियन है और आज इन्ही की बदौलत मंगेश चौधरी ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत कर पाये है। बस आप सभी अपना प्यार आशीर्वाद मंगेश चौधरी पर बनाये रखे।

और पढ़े   ब्रेकिंग- अयोध्या: वोट कम मिलना, वोट ज्यादा मिलना परिणाम प्रतिकूल होना अनुकूल होना डेमोक्रेसी की खूबसूरती- नरेंद्र कश्यप
Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *